Bulbbul Full Movie Review & Starcast

हेलो दोस्तो आज में लेकर आया हु Bulbbul Movie Review & Starcast. ये मूवी नेटफ्लिक्स पेर रिलीस हुई है जे मूवी आपको नेटफ्लिक्स पर देखने को मिल जायेगी। movies दशको से मनोरंजन का पसंदीदा साधन रही है। हर साल करोड़ो रुपये की लागत की बहोत सी फिल्मे हर साल release होती है।  bulbul review, bulbul review imdb, bulbul review netflix, bulbul review the hindu, bulbul review 2020, Bulbbul movie review,bulbbul, bulbbul full movie, bulbbul full movie review.

StarringTripti Dimri,
Avinash Tiwary,
Paoli Dam,
Rahul Bose,
Parambrata,
Chattopadhyay,
WrittenAnvita Dutt
Release date24 June 2020
Running time94 minutes
ProducedAnushka Sharma
Karnesh Sharma
DirectedAnvita Dutt
LanguageHindi

Bulbbul Full Movie Story

film का ट्रेलर release होते ही लोगो के मन मे उसकी कहानी जानने की उत्सुकता होती है। इसलिए आज हम आपको bulbul फिल्म की कहानी बताते है। कहानी की शुरुआत 1881 में होती है जहां पर ठाकुर खानदान के बड़े बेटे इंद्र नील अपने परिवार के लिए बहु ढूंढ कर लाते हैं जिसका नाम है बुलबुल एक छोटी सी बच्ची है जिसे छुपन छुपाई का खेल और डरावनी कहानियां सुना काफी पसंद है इन कहानियों में सबसे भूतिया है एक उल्टे पैर वाली चुड़ैल की कहानी जो जंगल के पेड़ों पर रहती है और इंसानों की जान लेने में काफी माहिर है किसी ने उसको देखा नहीं है पर उसके वजूद से इनकार करने की गलती कोई नहीं कर सकता एक कहानी सुनाने वाले का नाम सतिया है वैसे तो वोह रिश्ते में बुलबबुल के देवर लगते हैं लेकिन हम उम्र होने की वजह से दोनों का रिश्ता परिवार से हटकर दोस्ती में बदल चुका है एक बड़ी पुरानी हवेली उम्र से लगभग 7 गुना बड़ा पति एक दिल के करीब दोस्त और चुड़ैल वाली भूतिया कहानी इन सबके बीच में बचपन से लेकर जवानी तक बुलबुल की जिंदगी परियों की कहानी की तरह आगे बढ़ने लगती है।

कहानी में ट्विस्ट आता है जब 20 साल बाद गांव की तस्वीर पूरी तरह बदल जाती है और अचानक खतरनाक मौतों का सिलसिला शुरू हो जाता है कुछ अजीबो गरीब किस्से दुख में किसी इंसान या जानवर नहीं बल्कि शैतान का साया नजर आने लगता है गांव को डर से आजादी दिलाने का जिम्मा सत्या के कंधों पर आ जाता है जो आप दूसरे देश से पढ़ाई करके वापस लौटे हैं और गांव के साथ-साथ परिवार के अंदर छुपे हुए डॉग सीक्रेट की सच्चाई तलाशने की कोशिश कर रहे हैं क्या बाकी गांव के ऊपर किसी चुडैल का साया है जो इंसान के शरीर को चीर फाड़ कर अपनी भूख मिटा रही है या फिर हरकत के पीछे एक सोची-समझी प्लानिंग है जिसका कनेक्शन किसी डरावने अनसुने रात के साथ जुड़ा हुआ है क्या सच में बुलबुल की जिंदगी कहानियों वाली परी की तरह है या फिर अंदर कुछ ऐसा छुपा हुआ है जिसके बारे में जानकर आपके पैरों के नीचे से जमीन फिसलने लग जाएगी यह movie इन सभी सवालों के जवाब देने का काम करती है।

Bulbbul Movie Review

Film बुलबुल में सबसे बड़ा सवाल जो आपके मन में घूम रहा है कि फ़िल्म बुलबबुल में horror है या नहीं तो जवाब है जी हां बिल्कुल है और वह भी काफी ज्यादा मात्रा में है अगर आप शरीर में अचानक से पैदा हुई घबराहट और अंदर से हिला देने वाली कहानी को horror वाली कैटेगरी में रखते हो तो बुलबुल movie आपके लिए कीमती खजाने की तरह है।

Film में डाला गया माइथोलॉजी साबित होता है जिसमें देवी राक्षस की पुरानी कहानी को एक नए वर्जन में प्रजेंट करने की कोशिश की गई है इस मजेदार कोशिश को कंधा देने का काम करता है बारीकी से डाला गया बंगाली कल से जो आंखों के साथ-साथ आपके दिल के अंदर भी उतर जाता है जिस तरह से film की थीम natural कलर से बदल कर खून का लाल में बदल देती है वह बुलबुल को बाकी बॉलीवुड फिल्मों से एकदम अलग लाकर खड़ा कर देती है तो सोचिये जब भूतिया सीन्स के पीछे आपको ऐसा म्यूजिक सुनने को मिल जाए जो कानों के लिए तो सुरग की तरह है लेकिन अंदर अंदर आत्मा भी डर से कांप जाए तो समझ लीजिए आप एक बेहतरीन फ़िल्म के दर्शन करने वाले हो।

सबसे बड़ा प्लस पॉइंट film को एकदम नॉर्मल तरीके से बिना बढ़ा चढ़ाकर ऑडियंस के सामने रखना जिसकी वजह से फेल होने के बावजूद आप कहानी पर यकीन करने के लिए तैयार हो जाते हो और बुलबुल की दुनिया में जीने लगते हो बचपन से ही हमारे मन में राजा महाराजा उनकी भूतिया हवेली के किस्से
सुनने का लालच भरा हुआ है जिसका फायदा उठाकर डायरेक्टर मैडम हमारे दिमाग के साथ पूरी तरह खेल जाती है और एक चुड़ैल को कहानी से बाहर लाकर जिंदा कर देती हैं फ़िल्म का जो बिल्डउप है वोह थोड़ा सा धीमा है और कहीं-कहीं पर डेढ़ घंटे की फ़िल्म आपको थोड़ी सी लंबी महसूस होने लगती है 2-3 सीन्स है जिसको कई बार रिपीट किया गया है जिसमें फालतू वक्त खर्च हो जाता है बात करो एक्टिंग की तो सभी एक्टर की परफॉर्मेंस बॉलीवुड में पहले वाले ने nepotism नाम के वायरस के मुंह पर जोरदार तमाचा की तरह है जिसकी गूंज बहरी हो चुकी है जो इंडस्ट्री के कान के पर्दे फट सकती है तृप्ति और अविनाश जिनको आप इससे पहले लैला मजनू फ़िल्म में एक साथ देख चुके हो एक बार फिर से आपके दिल और दिमाग दोनों को अपने बस में करने वाले हैं

Final Words

पूरी फिल्म को आप netflix या फिर theater मे जाके भी देख सकते हैं। दोस्तो ये रिवियू आपको कैसे लगा और मूवी आपको कैसे लगी हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Thank You…

इसके अलावा आप Pushpa movie भी देख सकते हैं।

Top 10 movies bollywood of 2020

2 thoughts on “Bulbbul Full Movie Review & Starcast”

Leave a Comment